Seminars

  1. पुलिस कण्डक्ट रुल्स
  2. गुड गवर्नेन्स
  3. सामुदायिक पुलिसिंग, पुलिस जनता संबंध एवं पुलिस संस्कृति
  4. ई गवर्नेन्स
  5. भीड़ प्रबंधन के सिद्धांत एवं व्यवहार
  6. पुलिस की विभागीय संस्कृति किसप्रकार अन्य विभागों की संस्कृति से भिन्न एवं समान है।
  7. बेसिक्स आफ जी.आई.एस.
  8. पुलिस में सभ्य आचरण, शिष्टाचार एवं हाव भाव
  9. सीसीटीएनएस प्रशिक्षण
  10. मर्डर प्रकरण की केस स्टडी
  11. यातायात इंजीनियरिंग एवंप्रबंधन
  12. प्रायोगिक एक्सपोजर विस्फोटक, उनके प्रकार, पहचान, लैण्डमार्क की पहचान, बम ब्लास्ट एवं पोस्ट ब्लास्ट इन्वेस्टिगेशन
  13. विभिन्न अपराधों के 10 घटनास्थल बनाकर विवेचना संबंधी व्यवहारिक प्रशिक्षणः हत्या, डकैती, एक्सीडेंट्स, अपहरण एवं बलात्कार, लूट, दहेज प्रताड़ना, हत्या का प्रयास, एसिड अटैक, बलवा, चोरी आदि।
  14. ‘‘जेन्डर ईश्यूस्‘‘
  15. न्यायिक जाॅच, मजिस्ट्रियल जाॅच एवं पुलिस जाँच
  16. संघर्ष प्रबंधन एवं निगोशियन स्किल्स
  17. सामाजिक सशक्तिकरण
  18. लीडरशिप एण्ड सेल्फ मैंनेजमेंट
  19. जेण्डर इक्वेलिटी एण्ड वुमेन एम्पावॅरमेंट
  20. स्वच्छ भारत मिशन स्वच्छता सर्वेक्षण 2017
  21. आंतरिक सुरक्षा के महत्वपूर्ण पहलू
  22. सिविल सेवा आचरण नियम, म.प्र.
  23. इम्पार्टेंस आॅफ हेल्थ एण्ड फिटनेस इन दा पुलिस डिपार्टमेंट
  24. ’’मिथ्स एण्ड टिप्स एबाउट आउटडोर एक्टिविटी हाईजीन एण्ड हेल्थ’’
  25. ‘‘शारीरिक रुप से कठिन कार्य परिस्थितियों में स्वास्थ का ध्यान रखने हेतु महत्वपूर्ण बिन्दु’’
  26. ‘‘विशिष्ट/अतिविशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा‘‘
  27. जेण्डर बेस्ड डिस्क्रिमिनेशन
  28. आपदा प्रबंधन की स्थिति में विभिन्न संस्थाओं के बीच सहयोग एवं समन्वय की आवश्यकता, महत्व एवं मीडिया मैनेजमेंट ।
  29. अपराध अनुसंधान एवं पुलिस की विभिन्न कार्यवाहियों से संबंधित केस स्टडी योग कार्यशाला त्रिदिवसीय योग कार्यशाला का आयोजन किया गया।
  30. प्रशिक्षुओं की स्वैच्छिक पी.पी.टी
  31. ध्यान एवं प्राणायाम की उपयोगिता
  32. सामूहिक संवाद कौशल एवं पूछताछ का मनोविज्ञान
  33. आपदा प्रबंधन विषय पर एक दिवसीय वर्कशाॅप
  34. सायबर क्राईम, क्राईम मैपिंग
  35. ट्रेफिक इंजीनियरिंग
  36. मादक पदार्थो के दुर्वेशन एवं उनकी रोकथाम विषय पर 15 कोर्स आयोजित किये गए।
  37. महिलाओ के विरूद्ध अपराध एवं उनकी रोकथाम विषय पर कोर्स आयोजित किये गए।
  38. जवाहर लाल नेहरु पुलिस अकादमी सागर में दिनांक 29.02.2020 से 01.03.2020 तक सन् 1906 से 1969 के वरिष्ठ प्रशिक्षु उपनिरीक्षक अधिकारियों का सेमीनार आयोजित किया गया जिसमें सबसे वरिष्ठ उपनिरीक्षक बैच 1947 के अधिकारी श्री एस0एस0 श्रीवास्तव रहे। बैच 1956,1960,1963,1964,1965,1966,1967,1968, के अधिकारी तथा उनकी धर्मपत्नियाँ,शामिल हुयी इस क्रम में दिनांक 28-02-2020 को अधिकांश अधिकारियों का आगमन हुआ। सभी का वर्षो बाद हुआ यह मधुर मिलन अकादमी प्रेम जिन लोगों ने देखा वे अपलक देखते ही रह गये। देर रात तक सभी एक दूसरे से पुरानी यादे, अपनी जिन्दगी के गुजरे हुये लम्हे चर्चा कर बांटते रहे। इस मिलन के बाद शायद ही कोई रात्रि में सोये हो।
    दिनांक 29-02-2020 को इस सेमिनार का प्रारंभ सुबह के चाय, नास्ते से हुआ। इसके उपरांत सभी उसी ग्राउंड पर गये जहां वर्षो पहले इन सभी ने अपने आपको देश की सेवा कि लिये समर्पित किया था। उसी जेएनपीए स्थित परेड ग्राउंड पर उनकी यादों को ताजा करने के लिये ग्रुप फोटों का आयोजन किया गया। जिसमें सभी एकत्रित हुये। पुराने दोस्तों से मिलकर उनका वही वर्षों पुराना जोश, वही युवावस्था की मस्ती, वही पुराने नामों से एक दूसरे को पुकारना दिखाई दिया। इनमें एक वरिष्ठ अधिकारी श्री एस0एस0 श्रीवास्तव तो ऐसे भी थे। जिन्होंने सन् 1947 में जबाहरलाल नेहरू पुलिस अकादमी से ट्रेनिंग ली थी। उनकी उम्र 95 वर्ष है। ये इनमें सबसे सीनियर थे। आजादी के तुरंत बाद इस प्रथम बैच के ये अधिकारी अपने पुराने मित्रों को देखते ही अपने हांथ में लिये जिस लाठी के सहारे वे चल रहे थे। उसे ऊपर उठाकर दौड़ पड़े। ये अद्भुद मिलन देखकर सब भौचक्के रह गये। ग्राउण्ड ठहाकों से गूंज उठा। सभी के ग्रुप फोटो तथा अन्य फोटोज लिये गये।
    इसके पश्चात तय समय 09:30 बजे कोर्स का उद्घाटन समारोह अकादमी स्थित आँडिटोरियम में आयोजित किया गया। जिसमें नवागत उप पुलिस महानिरीक्षक, श्री राजेश हिंगणकर, जेएनपीए सागर द्वारा बैच के सबसे वरिष्ठ अधिकारी श्री एस0एस0 श्रीवास्तव 95 वर्ष को आमंत्रित किया गया तथा उनके द्वारा मां सरस्वती का पूजन दीप प्रज्जवन तथा पुष्पार्पण किया गया। तत्पश्चात सभी वरिष्ठ जनों का स्वागत, अभिनंदन किया गया।
    सभी सेवानिवृत्त वरिष्ठ अधि0 तथा उनकी धर्मपत्नियों से अपनी पुलिस विभाग में रहते हुये तथा सेवानिवृत्ति के पश्चात की जीवन यात्रा, अनुभव तथा पुलिस विभाग के लिये उनके सुझाव चाहे गये। इस दौर में सर्व प्रथम तो सभी ने विशेष पुलिस महानिदेशक महोदय, श्री संजय राणा तथा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक महोदया सुश्री अनुराधा शंकर का बार-बार धन्यवाद प्रकट किया गया कि उन्होने इतना अच्छा आयोजन किया। ये आयोजन हमेशा आगे भी करते रहने का आग्रह किया। कुछ अधिकारियों द्वारा विशेष पुलिस महानिदेशक महोदय, श्री संजय राणा सर के साथ ग्वालियर में किये गये यादगार कार्यों का स्मरण किया तथा कुछ के द्वारा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक महोदय सुश्री अनुराधा शंकर की दयालुता व उनके द्वारा किये गये पुलिस विभाग के लिये वेलफेयर कार्यों की सराहना की।
    कार्यक्रम में सेवानिवृत्त अधिकारियों द्वारा अपने सुक्षाव दिये गये। श्री आर0पी0 तिवारी बैच 1967 द्वारा बताया गया किए पुलिस के लिये सबसे महत्वपूर्ण है अपनी छबि को बनाये रखना। यदि आपने समाज में अपनी छबि एक अच्छे अधिकारी के रूप में निर्मित कर ली है। तो आपके कार्य में किसी भी प्रकार का अवरोध कतई नहीं आ सकता। श्री बी0पी0 शुक्ला बैच 1965 द्वारा मुखबिर तंत्र की मजबूती में पुलिस विभाग की सफलता पर जोर दिया। इन्होने बताया कि पुलिस सोर्स आफ इनफोर्मेसन बनाये। कुछ अधिकारियों द्वारा प्रमोशन के क्रम पर कहा कि निम्न स्तर से उच्च की तरफ प्रमोशन से पद भरे जाना चाहिए। ताकि विभाग में अधिक अनुभवी अधिकारी हो। श्री एस0 के0 शर्मा रिटायर्ड अति0 पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि छोटी-छोटी शिकायतों पर भी बारीकी से जांच हो ताकि आगे जाकर वे शिकायतें काननू व्यवस्था की स्थिति निर्मित न करें। विभागीय जांच सिखाने के लिये अधिकारियों के रिफ्रेसर कोर्स आयोजित कराये जाये। अधिकारी की धर्म पत्नि श्रीमती कुशुम शुक्ला द्वारा अपने जीवन की कठिनाई का जिक्र करते हुये सुझाव दिया किए पुलिस विभाग में ट्रासफर करते वक्त उनके बच्चों के भविष्य का विशेष ध्यान दिया जाना चाहिये। क्योंकि अचानक तथा बार-बार हुये तबादलो से पुलिस अधि0/कर्म0 के बच्चों का भविष्य डगमगा जाता है। अधिकांश अधि0 के द्वारा सेवानिवृति के बाद पुलिस वेलफेयर सुविधायें प्रदान करने पर जोर दिया। स्वस्थ्य सुरक्षा योजना में शामिल किये जाने की बात कही गई। कार्यक्रम में शामिल हुये सागर तथा पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों द्वारा सुझावों पर निश्चित ही अमल किये जाने का भरोसा दिलाया गया। उमनिए जेएनपीए द्वारा सेवानिवृत्त पुलिस अधि0 के सम्मान के लिये उनके निवास स्थान के संबंधित थाना प्रभारी उनके जन्म दिवस पर गुलदस्ता भेंट करें तथा समय. समय पर उनसे मिलते रहें इस हेतु प्रदेश स्तर पर विशेष पुलिस महानिदेशक महोदयए प्रशिक्षण पुमु भोपाल को सुझाव के रूप में भेजने का आश्वासन दिया गया।
    दिनाँक 29-02-2020 को रात्रि 07:30 बजे से मैस नाइट का प्रोग्राम आयोजित किया गया जिसमें सभी अधिकारीगण जेएनपीए लेक व्यू प्वाइंट पर एकत्रित हुए। सभी के द्वारा गाने गाये गये, डाँस किया गया। सेवानिवृत्त अधिकारी द्वारा सपत्नि श्रीमती कुशुम शुक्ला व्दारा बहुत अच्छा नृत्य किया गया। श्री कमल सिंह बुंदेला पत्नि श्रीमती रजनी बुंदेला जी की शादी की 56 वी सालगिरह का आयोजन किया गयाए केक काटा गया, वरमाला कार्यक्रम करवाया गया। श्री आर0के0 श्रीवास्तव जी द्वारा अलग-अलग प्रदेश की भाषाओं में गाना गाया गया और सभी रिटायर्ड अधिकारियों ने खुश होकर झूम कर ऊर्जा क साथ सभी ने बहुत इंज्वाय किया। इसके बाद स्वरूचि भोज किया। कार्यक्रम का महौल काफी खुशनुमा रहा।
    कार्यक्रम में पुलिस मुख्यालय भोपाल प्रशिक्षण शाखा से सहा0 पुलिस महानिरीक्षक श्री मलय जैन कार्यक्रम में शामिल हुये। सागर से पुलिस महानिरीक्षक श्री अनिल शर्मा पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त श्री रामेश्वर यादव एवं समस्त जेएनपीए स्टाफ शामिल हुआ।
    रात्रि विश्राम के पश्चात दिनांक 01.03.2020 को सुबह 07:30 बजे सभी सागर स्थित बहुत ही आकर्षक बहेरिया बड़े शंकरजी के दर्शन हेतु रवाना हुये। 09:30 पर अकादमी वापसी, चाय, नास्ते तथा कुछ देर के विश्राम के पश्चात सभी अकादमी आडिटोरियम में एकत्रित हुए। अब वह दुखद पल आ चुका था जब सभी को एक दूसरे से कुछ ही घंटो के बाद बिछड़ने का पल आने वाला था। सभी कुछ उदास प्रतीत हुए। किन्तु अभी अकादमी में और भी अयोजन शेष थे। वरिष्ठ अधिकारी श्री एस0एस0 श्रीवास्तव बैच सन् 1947 उम्र 95 वर्ष को मंच पर बैठाया गया।
    विदाई समारोह के इस अवसर पर शहडोल रेंज से माननीय अति. पुलिस महानिदेशक श्री जी0 जर्नादन, द्वारा आभार व्यक्त करते हुये सभी से आग्रह किया कि वे यहां से जाने के बाद अपना विवरण, बैच, जन्म,निवास स्थान,कार्यकाल,पुलिस सेवा में किय गये उल्लेखनीय कार्य, पदक, रिर्टामेंट के बाद का जीवन, पुरानी यादें, ट्रेनिंग टाइम के पल तथा हमारे आने वाली नई पीढ़ी के उपपुलिस अधीक्षक,उपनिरीक्षक अधिकारियों को आपके द्वारा प्रदान किया जाने वाला अनुभव सब हमे लिख कर प्रदाने का अग्रह किया गया ताकि अकादमी लाइब्रेरी में, थानों में पुलिस अधीक्षक कार्यालय आदि में रखा जा सके व आपके अंदर छिपे अथाह भंडार का देश की सेवा के लिए उपयोग किया जा सके। सहा0 पुलिस महानिरीक्षक श्री मलय जैन द्वारा पुलिस मुख्यालय की ओर से प्रतिनिधित्व किया गया तथा अभार व्यक्त किया गया।
    वरिष्ठ अधिकारियों की ओर से श्री जे0पी0 गौतम बैच 1960 द्वारा इस कार्यक्रम को प्रारंभ करने के लिये विशेष पुलिस महानिदेशक महोदय, श्री संजय राणा तथा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक महोदया सुश्री अनुराधा शंकर प्रशिक्षण शाखा पुलिस मुख्यालय भोपाल का आभार व्यक्त किया गया। श्री गौतम द्वारा बताया उनके परिवार के 28 सदस्य पुलिस विभाग को सेवाये दे रहे है। पुलिस मुख्यालय द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में ऐसा लगा जैसे मां–बाप के तीर्थयात्रा से लौटने पर बच्चे जलसा कर रहे हो।
    उप पुलिस महानिरीक्षक जेएनपीए,सागर, द्वारा आभार व्यक्त करते हुये बताया गया कि विशेष पुलिस महानिदेशक महोदय श्री संजय राणा तथा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक महोदय सुश्री अनुराधा शंकर प्रशिक्षण शाखा पुलिस मुख्यालय भोपाल द्वारा इस कार्यक्रम को आयोजित करने की सम्पूर्ण रूपरेखा तैयार बहुत पहले ही तैयार कर ली गई। सभी के नाम स्थान, मो0 नं0, व्हाटसएप ग्रुप आदि तैयार करवाना कब, सभी से संपर्क स्थापित करना तथा इस कार्यक्रम का कब, कैसे और कहां सफल आयोजन करना है आदि आयोजन के विचार आने से लेकर कार्यक्रम संपन्न होने तक एक-एक गतिविधि को विधिवत रूपरेखा बनाकर दूरभाष पर तथा लिखित में प्रदान किया गया तथा सम्पन्न कराने में सम्पूर्ण मार्गदशन तथा सहायता प्रदान की गई। इसके लिये उनका अभारी हूं। सेमीनार में पधारे सभी वरिष्ठ अधिकारियों का अभारी व्यक्त किया गया कि सभी के द्वारा इस रीयूनियम सेमीनार में आकर अपना कीमती समय प्रदान किया गया। श्रीमान के मार्गदर्शन तथा सुझाव के अनुरूप सभी को मोंमेन्टो, ग्रुप फोटो ग्राफ नाम सहित फोल्डर, गिफ्ट तथा सभी सेवानिवृत्त अधिकारियों का संपर्क आगे भी एक दूसरे से बना रहे इसके लिये उनके कांट्रेक्ट नम्बर की लिस्ट जेएनपीए के अधिकारियों सहित प्रदान की गई।कार्यक्रम में वरिष्ठ अधिकारी श्री नरेद्र सक्सेना जी का बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान रहा। अकादमी में दोनों उप पुलिस अधीक्षक समस्त स्टाफ, डाँ0 चंद्रप्रभा जैन का योगदान विशेष सराहनीय रहा। कार्यक्रम को सफल बनाने में नियुक्त किये गये 20 लाइजनिंग आफीसर आरक्षक स्तर का कार्य बहुत उत्कृष्ट रहा इस सभी का उमनि, जेएनपीए द्वारा आभार व्यक्त किया गया।
  39. जवाहरलाल नेहरू पुलिस अकादमी सागर मैं बीपी आरएंडी द्वारा संचालित महिला संबंधी अपराधों के अनुसंधान हेतु पांच दिवसीय दिनांक 16.0302020से दिनांक 20.03.2020तक प्रशिक्षण जिसमें मध्य प्रदेश के सभी झोन से कुल 26(प्रशिक्षु प्रधान आरक्षक से निरीक्षक तक )सम्मिलित हुए।
  40. प्रशिक्षण निदेशालय, पुलिस मुख्यालय, भोपाल के आदेश क्रमांक पु0मु0/प्रशि/टी-5/708/2020 दिनांक 16/3/2020 द्वारा जारी आदेश के माध्यम से पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों में वर्ष 2020 के कोर्स कैलेण्डर अनुसार आरक्षक से उप पुलिस अधीक्षक स्तर तक के अधिकारियों/कर्मचारियों हेतु आयोजित होने उक्त 03 दिवसीय कोर्स आगामी आदेश तक स्थगित किये जाते है।